मिस्ड कॉल नंबर: 84079 70909

सक्षम नारी - अक्षय शक्ति हमारी

गढ़वाल की महिलाएं मिसाल हैं अपने आप में। वे अपने मजबूत कंधों पर हर ज़िम्मेदारी उठाती हैं। घर को स्वर्ग बनाते हुए। परिवार-बच्चों, बड़े-बुजुर्गों सब पर अपना सर्वस्व लुटाते हुए। खेतों-खलियानों में जी-तोड़ मेहनत करके, हर काम को आगे बढ़कर उसे सफल बनाती हैं।



नमन है ऐसी माताओं, बहनों, नारियों को। बदलते वक्त में हमारी भी ज़िम्मेदारी है उन्हें मान देने की। उन पर अभिमान करने की, उन्हें बेहतर अवसर और परिवेश देकर। हमारी आने वाली पीढ़ी के सुखद भविष्य के लिए उन्हें और अधिक सक्षम, सबल बनाना होगा। ताकि वे हो सकें तैयार नई-नई चुनौतियों के लिए। कहीं बेहतर शिक्षण-प्रशिक्षण पाकर आर्थिक रूप से आत्म निर्भर व समर्थ बन सकें।



मानें या ना मानें समस्त देश, उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था में इनका योगदान अभूतपूर्व है। परंतु हम यह स्वीकारते नहीं। अब समय आ गया है इस महिला शक्ति को उसका हक, मानव प्रतिष्ठा देने का। उनकी क्षमताओं का बेहतर सदुपयोग करके उन्हें नई बुलंदी देने का। यह उनका अधिकार है और फिर हमारे समाज में तो नारी-शक्ति विशेष स्थान रखती है। फिर भला ये पहल हम ही क्यों न करें। हमारा मानना है यदि महिला शिक्षित हो जाए तो शिक्षित परिवार बनाए... फिर देश भी खुद शिक्षित हो जाए।